सर्च-सीजीसीआरआई

 कर्मचारी खोजें@सीजीसीआरआई 
 नाम:
 (पहला नाम / अंतिम नाम से खोज)    

    Home     उपलब्धियाँ      समकक्ष पहचान
 उपलब्धियां  
     
 

वर्ष : (2011-11)
  1. शैक्षणिक सम्मान
    1. प्रो इन्द्रनील मन्ना, निदेशक दिनांक 1 जनवरी, 2011 से लागू भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी, नई दिल्ली के फेलो नियुक्त हुए । वे दिनांक 27 दिसम्बर, 2010 से लागू वर्ष 2010 के लिए पश्चिम बंगाल विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी अकादमी (डब्ल्यूएसहटी) के फेलो भी नियुक्त हुए ।
    2. डा डी बासु, वैज्ञानिक जी एवं प्रमुख जैव सिरामिक एवं आलेपन प्रभाग दिनांक 1 जनवरी, 2010 से लागू भारतीय राष्ट्रीय ईंजीनियरी अकादमी, नई दिल्ली के फेलो नियुक्त हुए ।
    3. डी पी के विश्वास, वैज्ञानिक, सोल-जेल प्रभाग दिनांक 27 दिसम्बर, 2010 से लागू वर्ष 2010 के लिए पश्चिम बंगाल विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी अकादमी (डब्ल्यूएएसटी) के फेलो नियुक्त हुए ।
  2. व्यवसायिक पारितोषिक
    1. सीजीसीआरआई ने ईंजीनियरी श्रेणी सहित भौतिक विज्ञानों में चिकित्सा अनुप्रयोगों के लिए जैव-सिरामिक इमपलान्टों के निर्माण प्रोद्योगिकी के लिए सीएसआईआर का प्रोद्योगिकी अवार्ड-2010 प्राप्त किया ।
    2. कौशिक डाना, वैज्ञानिक, अग्रिम मृदा एवं पारम्परिक सिरामिक प्रभाग को कॉर्मेल विश्वविद्यालय, यूएसए से सीसीएमए इमेज अवार्ड प्रदान किया गया ।
    3. एच एस त्रिपाठी, वैज्ञानिक, रिफ्रेक्टरिज प्रभाग को इम्पेरियल कॉलेज, लन्दन में कार्य करने के लिए रमण अनुसंधान फेलोशीप 2010-11 प्रदान किया गया ।
    4. जुई चक्रवर्ती, वैज्ञानिक, जैव सिरामिकी एवं आलेपन प्रभाग लेहाई विश्वविद्यालय यूएसए में कार्य करने के लिए रमण अनुसंधान फेलोशीप 2011-12 अवार्ड हेतु चयनित हुई ।
    5. तीर्थ सोम, सीएसआईआर, एनईटी, एस आरएफ काँच विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी अनुभाग, काँच प्रभाग को -
                    क. एस आर एम विश्वविद्यालय, चेन्नई में जनवरी 3-7, 2011 के दौरान आयोजित भारतीय विज्ञान कांग्रेस संगठन के 98वें सत्र में भारतीय विज्ञान कांग्रेस संगठन द्वारा द्रव्य विज्ञान श्रेणी में वर्ष 2010-11 के लिए युवा वैज्ञानिक अवार्ड प्रदान किया गया ।
                    ख. अग्रिम द्रव्य अनुसंधान में उनके अवदानों के एमआरएसआई , कोलकाता चैप्टर द्वारा बीईएसयू, शिवपुर में अक्तूबर, 29, 2010 को आयोजित युवा वैज्ञानिक संगोष्ठी 2010 में भरतीय द्रव्य विज्ञान अनुसंधान सोसाइटी (एमआरएसआई) कोलकाता चैप्टर के युवा वैज्ञानिक आवार्ड 2010 से सम्मानित किया गया ।
                    ग. द्रव्य विज्ञान में उनपके अवदानों के लिए दिनांक 11 जनवरी, 2011 को कोलकाता में आयोजित सोसाइटी के 74वें वार्षिक सत्र में भारतीय सिरामिक सोसाइटी का डा आर एल ठाकुर स्मारक अवार्ड 2010 प्रदान किया गया 1
    6. अर्जुन दे, वरिष्ठ अनुसंधान फेलो, गैर आक्साइड सिरामिक एवं सम्मिश्र प्रभाग के यांत्रिक गुण एवं मूल्यांकेन अनुभाग ने धातुकर्म एवं द्रव्य ईंजीनियरी विधा में आई ई आई युवा ईंजीनियर अवार्ड 2010-11 प्राप्त किया।
    7. जुई चक्रवर्ती, मंजुषा चक्रवर्ती, सुदक्षिणा राय, सामोश्री दासगुप्ता, मिथिलेश के सिन्हा, सुचित्रा सेन, एवं देवब्रत बासु ने सीजीसीआरआई, कोलकाता में नवम्बर 25-27 , 2010 को आयोजित अन्तराष्ट्रीय सम्मेलन अलुमिनास -2010 में सघन अल्युमिना जैव चिकित्स्कीय इमप्लान्ट द्रव्य पर बायोमाइमेटिक आलेपन में हाइड्रोक्सी एपेटाइट की विलक्षण स्व-सज्जित संरचनाएँ नामक अपने आलेख के लिए सर्वोत्तम मौखिक प्रस्तुतीकरण प्राप्त किया ।
    8. श्यामल घो, टी के मुखोपाध्याय, एस चक्रवर्ती एवं एस के दास ने दिनांक जनवरी, 11-13ए 2011 को कोलकाता में आयोजित भारतीय सिरामिक सोसाइटी के 74वें वार्षिक सत्र में भवन निर्माण ईंटों के लिए क्ले फ्लाई एग मिश्रण के भौतिक यांत्रिक गुणों पर काओलिनिटिक क्ले का प्रभाव नामक अपने आलेख के लिए गनपुले अवार्ड 2010 प्राप्त किया ।
    9. एस भट्टाचार्या, एस के दास एवं एन के मित्रा ने कोलकाता में जनवरी 11-13, 2011 को आयोजित भारतीय सिरामिक सोसाइटी के 74वें वार्षिक अधिवेशन में अपने आलेख ट्राइ एक्सियल पोर्सलिन के जलित लक्षणों पर टिटेनिया का प्रभाव पर गनपुले अवार्ड 2010 प्राप्त किया 1
    10. आर एन बासु, ए दास शर्मा, पी कुन्डु एवं सास्वती घोष ने कोलकाता में जनवरी 11-13, 2011 को आयोजित भारतीय सिरामिक सोसाइटी के 74वें वार्षिक अधिवेशन में अपले आलेख प्लानर ठोस आक्साइड ईंधन सेल स्टैक में अनुप्रयोग हेतु कॉंच अधारित सिलैन्ट्स पर काँच में देवकर्ण अवार्ड 2010 के लिए चयति हुए ।
  3. पोस्टर अवार्ड
    1. एस मजूमदार, पी नाग एवं पी सुजाता देवी द्वारा सीजीसीआरआई, कोलकाता में दिनांक दिसम्बर, 6-7, 2010 को आयोजित नैनो द्रव्यों में प्रगति पर अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन में एक प्रभावगारी हाइड्रोजन गैस सेंसिंग द्रव्य के रूप में सीएनटी -SnO2 सम्मिश्र पर
    2. ए जेना, एन आर बंद्योपाध्याय एवं पी सुजाता देवी, ए एम पी आर आई, भोपाल में फरवरी 14-16, 2011 के दौरान आयोजित भारतीय द्रव्य अनुसंधान सोसाइटी के 22वीं एजीएम बैठक में, सोनो केमिकल प्रक्रिया के माध्यम से जिंक आक्साइड छड़ों का आकार नियंत्रित निर्माण ।
    3. पी सुजाता देवी, एस बनर्जी एवं पी प्रायोलकर, सीजीसीआरआई, कोलकाता में मार्च 1-2, 2011 के दौरान आयोजित ऊर्जा द्रव्य : चुनौतियाँ एवं अवसर पर अन्तर्राष्ट्रीय संगोष्ठी , Ce0.8M0.202-d, (M=Ca,Gd,Sm) ठोस घोलों की स्थानीय संरचना में कुछ दिलचस्प अवलोकन एवं नई अर्न्तदृष्टियाँ
    4. डी जेना, एवं जी डे, सीजीसीआरआई, कोलकाता में दिसम्बर 6-7, 2010 के दौरान आयोजित नैनो द्रव्यों में प्रगति पर अन्तर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में अल्युमिना सोल में सिल्वर नैनो पार्टिकल्स का आकार परिवर्त्तन ।
    5. ए दन्डापन, डी जेना एवं जीडे को आईआईटी, दिल्ली में फरवरी 25-27, 2011 के दौरान आयोजित नैनो मिशन परिष्द, डीएसटी के राष्ट्रीय समीक्षा एवं सहयोगिता बैठ (एनएसएनटी-2011) में पुर्नप्रयुक्ति योग्य उत्प्रेरक के रूप में धातु नैनो पार्टिकल द्वारा लेपित मिजोपोरस अल्युमिना फिल्म पर पुरस्कृत किया गया 1
    6. एस प्रमाणिक, एस पाल एवं जी डे, आईआईटी दिल्ली में फरवरी 25-27, 2011 के दौरान आयोजित नैनो मिशन परिषद, डीएसटी के राष्ट्रीय समीक्षा एवं सहयोगिता बैठक (एनएसएनटी -2011) में प्लाजमोनिक संशोधन के माध्यम से स्वर्ण नैनोपार्टिकल लेपित ZrTiO4 के हाइड्रोजन गैस सेंसिंग गुण।
  4. डाक्टर की उपाधि से सम्मानित
    1. सुश्री सुमना घोष को डा डी बासु, प्रमुख जैव सिरामिक प्रभाग, सीजीसीआरआई एवं डा जी सी दास, जादवपुर विश्वविद्यालय के पर्यवेक्षण में “थर्मल बैरियर आलेपन प्रणाली में संरचना एवं गुण संबोंधो पर अध्ययन” विषय पर जादवपुर विश्वविद्यालय के डाक्टरेट उपाधि से सम्मानित किया गया ।
    2. श्री देव दुलाल साहा को डा कमलेन्दु सेनगुप्ता, वैज्ञानिक सीजीसीआरआई के मार्गदर्शन में “माइक्रो/नैनो छिद्रदार सिरामिक द्रव्य का उपयोग करके अत्यल्प आद्रता सेंसर का विकास विषय पर जादवपुर विश्वविद्यालय के पीएचडी डिग्री से सम्मानित किया गया ।
    3. श्री मृणमल पाल को डा श्यामल कुमार भद्रा, वैज्ञानिक, सीजीसीआरआई के निर्देशन में “डब्ल्यू डी एम नेटवर्क प्रणालियों के लिए दक्ष ब्राड बैंड एम्पलीफिकेशन एवं गेन फ्लैटेन्ड ऑप्टिकल एम्पलीफायर्स हेतु विशिष्ट एर्बियम लेपित ऑप्टिकल फाइबरों पर सैद्धान्तिक एवं प्रयोगिक अध्ययन विषय पर जादवपुर विश्वविद्यालय का पीएचडी डिग्री प्राप्त हुआ ।
    4. श्री तापस कुमार मुखोपाध्याय को डा एच एस मैइती , पूर्व निदेशक, सीजीसीआरआई एवं डा शंकर घटक, प्रमुख, अनुप्रयुक्त नैनो मृदा एवं पारम्परिक सिरामिक प्रभाग के पर्यवेक्षण में “मल्लिटाइजेशन के संबंध में ट्राइएक्सियल संघटनों में पायरो-फाइलाइट के समावेशन का प्रभाव” विषय पर कलकत्ता विश्वविद्यालय से
  5. विदेशों में नामांकन
    1. डा आर एन बासु, वैज्ञानिक एवं प्रमुख, ईंधन सेल एवं बैटरी प्रभाग कनाडा में प्राकृतिक विज्ञान एवं ईंजीनियरी अनुसंधान परिषद (एनएसईआरसी) के ऊर्जा सूची में एक विशेषज्ञ समीक्षक के रूप में रणनीतिक परियोजना अनुदान कार्यक्रम के अन्तर्गत उनकी परियोजनाओं के मूल्यांकन हेतु चयनित किए गए ।
    2. रोम, इटली में सितम्बर 13-17, 2010 के दौरान आयोजित नैनो संरचनाकृत द्रव्य पर 10वें अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन (एनएएनओ-2010) में आमंत्रित व्याख्यान देने के लिए आमंत्रित किए गए ।
    3. अन्तर्राष्ट्रीय परामर्श समिति के सदस्य के रूप में आममित किए गए तथा रोम, इटली में सितम्बर 13-17, 2010 के दौरान आयोजित नैनो संरचनाकृत द्रव्य पर 10वें अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन में एक आमंत्रित वक्ताओं के रूप में बुलाए गए ।



    Updated on: 10-10-2012 19:11 
facebook
twitter
:: Contents of this site © केन्द्रीय कांच एवं सिरामिक अनुसंधान संस्थान (सीजीसीआरआई) ::             :: सर्वश्रेष्ठ स्क्रीन रिज़ॉल्यूशन: 1024x768 ::