सीएसआईआर-केंद्रीय काँच एवं सिरामिक अनुसंधान संस्थान

CSIR-Central Glass & Ceramic Research Institute

Select Page

সিএসআইআর-কেন্দ্রীয় কাঁচ ও সেরামিক গবেষণা সংস্থা

सीएसआईआर-केंद्रीय काँच एवं सिरामिक अनुसंधान संस्थान

CSIR-Central Glass & Ceramic Research Institute

समाचार

परिधेय  इलेक्ट्रॉनिक्स में उपयोग हेतु  नई पीढ़ी के नैनो धातु ऑक्साइड / ग्राफीन-पॉलिमर मिश्रित सामग्री का विकास

परिधेय इलेक्ट्रॉनिक्स में उपयोग हेतु नई पीढ़ी के नैनो धातु ऑक्साइड / ग्राफीन-पॉलिमर मिश्रित सामग्री का विकास

नैनो जिंक ऑक्साइड/ग्राफीन-पॉलीमर मिश्रित सामग्री के साथ बेहतर लचीलापन, उच्च गेज फैक्टर और विस्तृत माप रेंज को हाइड्रोथर्मल, इलेक्ट्रोस्पिनिंग और सॉल्वोथर्मल विधियों का उपयोग करके संश्लेषित किया गया है। इन सामग्रियों के यांत्रिक, थर्मल, संरचनात्मक, रूपात्मक और...

read more
उच्च शक्ति संपन्न: ग्लास लेजर के लिए क्वार्टर्ज ग्लास एवं केडीपी ऑप्टिक्स पर एंटीरिफ़्लेक्शन और उच्च प्रतिबिंब सोल-जेल व्युत्पन्न कोटिंग्स का विकास:

उच्च शक्ति संपन्न: ग्लास लेजर के लिए क्वार्टर्ज ग्लास एवं केडीपी ऑप्टिक्स पर एंटीरिफ़्लेक्शन और उच्च प्रतिबिंब सोल-जेल व्युत्पन्न कोटिंग्स का विकास:

क्वार्टर वेवलेंथ ऑप्टिकल डिजाइन सिंगल लेयर और डबल-लेयर सोल-जेल व्युत्पन्न मेटल ऑक्साइड आधारित एन्टीरिफ्लेक्शन (ट्रांसमिशन, एनएम पर) कोटिंग को क्वार्टर्ज ग्लास ऑप्टिक्स पर गढ़ा गया है। साथ में क्वाटर्ज ग्लास पर 5-लेयर कोटिंग का उच्च प्रतिबिंब (>1054 पर 55%) तय समय...

read more
ग्राफीन ऑक्साइड के संश्लेषण और पेंट्स में इसके प्रयोग के लिए एक प्रक्रिया विधि

ग्राफीन ऑक्साइड के संश्लेषण और पेंट्स में इसके प्रयोग के लिए एक प्रक्रिया विधि

उद्योग के साथ साझेदारी में एक प्रयोगशाला पैमाने (~50 ग्राम/बैच) में ग्राफीन ऑक्साइड का संश्लेषण विकसित किया गया है। प्रक्रिया प्रौद्योगिकी के आधार पर, प्रायोजक 500 ग्राम प्रति बैच तक के ग्राफीन ऑक्साइड उत्पादन का एक पायलट संयंत्र बनाने में सक्षम है। उत्पादित ग्रेफीन...

read more

  • सी एस आइ आर -एकिक्रित कौशल पहल : कौशल विकास प्रशिखन कार्यक्रम 2021{ब्रोशर [2.38 एमबी] ||  आवेदन पत्र [25.9 केबी]}

…अधिक कार्यक्रम

 

भारतीय शीर्ष 2% वैज्ञानिकों की विषय-वार रैकिंग में सीएसआईआर-सीजीसीआरआई के वैज्ञानिकों को स्थान प्राप्त  

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन के अंतर्गत सभी वैज्ञानिक विषय पर हुए एक संकलन के माध्यम से संस्थान से संबद्ध सात वैज्ञानिक (पूर्व और वर्तमान, जिसमें एमेरिटस वैज्ञानिक भी शामिल हैं) वर्तमान वर्ष के लिए सभी वैज्ञानिक विषय पर हुए एक संकलन में भारत के शीर्ष 2% वैज्ञानिकों की सूची इस प्रकार हैं। बासुदेव कर्मकर, वंशी. के. बल्ला, मिलन के. नस्कर, के. के. फणी एवं आर.एन.बसु को ‘मटीरियल्स’ डोमेन के अंतर्गत शामिल किया गया है। गौतम दे को ‘नैनो विज्ञान और नैनो-प्रौद्योगिकी’ डोमेन के अंतर्गत और एच.एस.राय को ‘खनन और धातुकर्म’ डोमेन के अंतर्गत शामिल किया गया है। (Source: https://journals.plos.org/plosbiology/article?id=10.1371/journal.pbio.3000918)

…Archive

प्रेस और मीडिया लाइब्रेरी

फ़ोटोगैलरी

कैलेंडर

  • Mon
    08
    Mar
    2021

    अंतरराष्ट्रीय नारी दिवस समारोह

  • Mon
    01
    Mar
    2021

    राष्ट्रीय विज्ञान दिवस समारोह

  • Fri
    18
    Dec
    2020
    Sun
    27
    Dec
    2020

    कांच पर द्वीतिय आइ सी जी-सी जी सी आर आइ ओन लाइन टुटोरिअल -2021

  • Fri
    11
    Dec
    2020
    Sat
    12
    Dec
    2020

    "आत्मनिर्भर भारत के लिये कांच एवम सीरामिकी पर नवाचारो में प्रचार" विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी

मुख्य मैट्रिक्स पर एक नज़र

पेटेंट स्वीकृत

पेटेंट दायर

एजेंसी वार परियोजनाओं का वितरण (2019-20)

प्रकाशन

कुछ प्रमुख परियोजनाएं

  1. औद्योगिक एवं सामरिक अनुप्रयोगों (LISA) के लिए फाइबर लेजर
  2. मध्य अवरक्त फोटोनिक्स अनुप्रयोगों के लिए कैलकोजिनाइड काँच एवं फाइबर
  3. स्मार्ट इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रबंधन के लिए उन्नत प्रकाशीय फाइबर वितरित सेंसर एवं एफबीजी सेंसर
  4. प्रतिक्रिया बंधी सिलिकॉन नाइट्राइड सिरामिक ईएम विंडो का विकास
  5. गुणवत्ता स्टील उत्पादन के लिए उपयोगी इंडक्शन मेल्टिंग फरनेस हेतु किफायती रिफ्रेक्टरी लाइनिंग सामग्री

Last Updated on April 15, 2021